Make It Count

जी ले यहाँ…

कभी लगे देख ली दुनिया,
तो कभी लगे सब कुछ नया
हर सुबह लाये नयी किरण
जगमगाए फिर से ये जहां

जब तंग आ जाए शहरों से
गाँवों की शांति भी यहाँ
जरुरत तो बस खोजने की है
जन्नत यहीं, खुदा भी यहाँ

ढकी नहीं यहाँ खूबसूरती,
पर्दे तो आखों पे हैं यहाँ
बटती नहीं है यहाँ हँसी
बस हँसकर चलना है यहाँ

यहाँ हवा, यहाँ ख्वाब हैं,
सब संग चलने को बेताब हैं
जरुरत तो बाँहें खोल महसूस करने की है
फिर हर लम्हें अपने साथ हैं

चाहे छूट जाए हर दामन
चाहे गिरे हम हर कदम
अगर अब भी गिरते को बचा सकें
खुद ही संभल जाएँगे अपने कदम

मरना तो है ही
तो क्यूँ ना थोड़ा जी कर जाएँ
थोड़ा खुद हँस लें,
थोड़ा सबको हँसा लें

 -Shashank Maurya


1 COMMENT
  • Coralee
    Reply

    You’ve got to be kidding me-it’s so trelpsarantny clear now!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *